Wednesday, April 28, 2010

तुम्हारे हुनरमंद टैलेंट की तारीफ़ करूँ या फिर उस निर्भीक की दिलेरी भरी जांबाजी की

kadahi 

पति (खाना खाते वक्त पत्नी से): वाह!…क्या टैलेंट दिया है तुमको ऊपरवाले ने..वाह…मज़ा आ गया

पत्नी(फूल कर कुप्पा होते हुए): क्या हुआ?

पति(असमंजस भरे स्वर में):समझ में नहीं आ रहा कि तुम्हारे हुनरमंद टैलेंट की ज्यादा तारीफ़ करूँ या फिर उसक निर्भीक पापड़ की दिलेरी भरी जांबाजी पर खुश होकर उसकी खुले दिल से हौंसला अफजाई करूँ?

पत्नी(चेहरे पे हैरानी भरा पुट ले खुश होते हुए): क्यों?…क्या हुआ?

पति: तुम्हारी लाख कोशिशों के बावजूद गर्म खौलते तेल की कढाही से वो पापड़ कच्चा जो बच के बाहर निकल आया

पत्नी:क्या? 

32 comments:

ललित शर्मा said...

हा हा हा
वाह राजीव भाई
बहुत दिनों के बाद,
वो मारा पापड़वाले को

राम राम

प्रवीण शुक्ल (प्रार्थी) said...

HAHHA HAHAH HAHAAH NHUT KHUB RAAJIV BHAI
KYA BAAT HAI CHOOTO CHHOTI CHIJO SE HAASY NIKAAL LETE HAI
SAADAR
PRAVEEN PATHIK
9971969084

SANJEEV RANA said...

bahut majedaar

अविनाश वाचस्पति said...

पापड़ बच गया
पापड़ सच्‍चा है न

Shikha Deepak said...

:)

नीरज जाट जी said...

कच्च पापड, पक्का पापड।

नीरज जाट जी said...

कच्चा पापड, पक्का पापड।

यशवन्त मेहता "फ़कीरा" said...

वाह कितना साहसी पापड़ हैं
आखिर किस ब्रांड का हैं???? जरा नाम तो बता दीजिये तनेजा जी

'अदा' said...

हा हा हा
वाह राजीव भाई

बेचैन आत्मा said...

vaah!

विनोद कुमार पांडेय said...

मजेदार किस्सा...धन्यवाद राजीव जी...

अरुणेश मिश्र said...

wah......wah.,...
mazedar.

'उदय' said...

...bahut khoob !!!

Anand said...

Kya baat hai. lajawab papad

योगेश शर्मा said...

lovely...ise kehte hain simple yet effective...dosa was too good..Bro

अरुणेश मिश्र said...

मजेदार ।

सुमित प्रताप सिंह said...

badiya hai Rajiv ji...

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...
This comment has been removed by the author.
Maria Mcclain said...

interesting blog, i will visit ur blog very often, hope u go for this website to increase visitor.Happy Blogging!!!

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

राजीव जी, इस शमा को जलाए रखें।
ऐसी हंसी और कहाँ?
--------
पॉल बाबा की जादुई शक्ति के राज़।
सावधान, आपकी प्रोफाइल आपके कमेंट्स खा रही है।

सुनीता शानू said...

बहुत बढ़िया राजीव जी यहाँ पापड़ बेचारे पति को कहा जा रहा है लगता है...:)

निर्मला कपिला said...

अच्छा तो आप पक्के पापड हैं? लेकिन मै नही मानती। लेकिन आज पहली बार इस ब्लाग पर आयी हूँ तो आपकी हाँ मे हाँ मिला देती हूँ। शुभकामनायें। आपका बहुत बहुत धन्यवाद रोहतक मीट मे ले जाने के लिये।

Ankur jain said...

rochak...

Dimple Maheshwari said...

जय श्री कृष्ण...आप बहुत अच्छा लिखतें हैं...वाकई.... आशा हैं आपसे बहुत कुछ सीखने को मिलेगा....!!

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

राजीव जी, आपकी लेखनी में गजब की शक्ति है। हंसा हंसा कर पेट में दर्द हो गया जी। हार्दिक बधाई।

---------
डा0 अरविंद मिश्र: एक व्‍यक्ति, एक आंदोलन।
एक फोन और सारी समस्‍याओं से मुक्ति।

amrendra "amar" said...

Waah.........Bahut khoob

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

होली के पर्व की अशेष मंगल कामनाएं। ईश्वर से यही कामना है कि यह पर्व आपके मन के अवगुणों को जला कर भस्म कर जाए और आपके जीवन में खुशियों के रंग बिखराए।
आइए इस शुभ अवसर पर वृक्षों को असामयिक मौत से बचाएं तथा अनजाने में होने वाले पाप से लोगों को अवगत कराएं।

Patali-The-Village said...

नवसंवत्सर की हार्दिक शुभकामनाएँ| धन्यवाद|

Richa P Madhwani said...

kacha papad pakaa papad

वीना said...

वाह मजेदार...

SANTOSH KUMAR JHA said...

वाह ;वाह ;वाह

तुषार राज रस्तोगी said...

बहुत ही सुन्दर और सशक्त लेखनी | आपके ब्लॉग पर पहली बार आकर अच्छा लगा | भविष्य की पोस्ट्स पढने के लिए आपके ब्लॉग का अनुसरण कर रहा हूँ |
आप भी कभी यहाँ पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
Tamasha-E-Zindagi
Tamashaezindagi FB Page

Post a Comment

There was an error in this gadget

Recent Posts

Followers